सरकार ने ऑनलाइन जुए पर पाबंदी लगाने का लिया निर्णय, गैरकानूनी गतिविधियों पर लगेगी रोक

1 Dec, 2020 16:17 IST|के. लक्ष्मण
आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री वाईएस जगन मोहन रेड्डी

ऑनलाइन जुआ खेलने की जानकारी मिलने पर पुलिस ने की कार्रवाई 

गैरकानूनी काम करने पर सरकार किसी के साथ नहीं बरतेगी रियायत

 

अमरावती : आंध्र प्रदेश विधानसभा का शीतकालीन सत्र के दूसरे दिन टीडीपी (TDP) के सदस्यों ने शोरशराबा किया। सभा की कार्यवाही में अड़चनें पैदा की। आंध्र प्रदेश (Andhra Pradesh) सरकार ने सभा के दौरान ऑनलाइन जुए पर पाबंदी को लेकर बिल पेश किया। बिल पर चर्चा के दौरान बताया गया कि टीडीपी के सदस्य सत्यप्रसाद निजामपटनम (Nizampatnam) में खुलेआम जुए का संचालन कर रहे हैं। उनके खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की जा रही है। इस तरह का मुख्यमंत्री वाईएस जगन मोहन रेड्डी (YS Jagan Mohan Reddy) ने अनगानी सत्यप्रसाद पर आरोप लगाया। 

सीएम जगन ने कहा कि ऑनलाइन जुए को लेकर यदि कोई गलती करता है तो सरकार उसके खिलाफ यथाशीघ्र कार्रवाई करेगी। कर्नूल (Kurnool) जिले में मंत्री जयराम के रिश्तेदार द्वारा एक गांव में ऑनलाइन जुआ खेलने की जानकारी मिलने पर पुलिस ने कार्रवाई की। जुआ चलानेवाले को हिरासत में लिया गया। मंत्री का रिश्तेदार बताने के बावजूद मामला दर्ज किया गया। इस पर खुद मंत्री ने भी सरकार की सही कार्रवाई बताया। कोई भी गैरकानूनी काम करता है तो सरकार किसी के साथ रियायत नहीं बरतेगी। कोई भी यदि गैरकानूनी काम करता है तो उसके खिलाफ कार्रवाई होगी। किसी की नजर में भी आता है तो इसकी जानकारी सरकार को दें।

इसे भी पढ़ें :

सीएम जगन के खिलाफ दायर याचिका सुप्रीम कोर्ट ने की खारिज

मुख्यमंत्री ने कहा कि गैरकानूनी गतिविधियों के खिलाफ यथाशीघ्र कार्रवाई करने का भी पुलिस को आदेश दिया गया है। ऑनलाइन जुए पर पांबदी लगाने के मुख्य उद्देश्य से ही कानून लाना पड़ा। ऑनलाइन जुए की आदत बच्चों को न लगे और उनका भविष्य अंधकारमय न हो, इस उद्देश्य से ऑनलाइन जुए पर पांबदी लगाने का निर्णय लिया गया। सीएम ने पूछा कि पिछली सरकार ने ऑनलाइन जुए पर पाबंदी लाने के लिए कदम क्यों नहीं उठाए? 

Related Tweets
Load Comments
Hide Comments
More News
आंध्र-प्रदेश
मुख्य समाचार
.