खुलने लगा है मंत्री पेर्नी नानी पर हुए हमले के पीछे का राज...

3 Dec, 2020 09:01 IST|संजय कुमार बिरादर
बडुगु नागेश्वर राव

कल्याण योजनाओं का लाभ उठाया

जांच से तेज हुई टीडीपी नेताओं की धड़कनें 

अमरावती : राज्य परिवहन व नागरिक आपूर्ति मंत्री पेर्नी वेंकटरामय्या (नानी) पर हुए हमले से टीडीपी का कोई संबंध नहीं होने का दावा करने वाले नेताओं में अब खलबली मच गई है। गौरतलब है कि टीडीपी के नेता प्रचार करते रहे हैं कि सरकार के रवैये से परेशान होकर ही मेस्त्री बडुगु नागेश्वर राव ने गुस्से में मंत्री पर हमला किया है। पार्टियों से ऊपर उठकर वाईएसआर कांग्रेस पार्टी की सरकार द्वारा राज्य के सभी कमजोर तबकों को पहुंचाई जा रही योजनाओं का लाभ नागेश्वर राव का परिवार भी उठा चुका है।

घटना से जुड़े सूबतों के आधार पर देखा जाए तो टीडीपी नेताओं की साजिश के तहत ही टीडीपी समर्थक नागेश्वर राव ने हमले की कोशिश की है। नागेश्वर राव का परिवार भी इस हमले का खंडन कर रहा है। खुद आरोपी नागेश्वर राव की बहन का कहना है कि वह सपने में भी नहीं सोच सकती कि उसका भाई भी मंत्री पर हमला कर सकता है। ऐसे में इस हमले के पीछे टीडीपी की साजिश दिखाई दे रही है।

कल्याण योजनाओं का लाभ उठाया...
ये बात तो स्पष्ट हो चुकी है कि टीडीपी नेताओं की बातों में सच्चाई नहीं है, क्योंकि बडुगु नागेश्वर राव के परिवार को सरकार की कल्याणकारी योजनाओं का लाभ पहुंचा है। दो महीने पहले उस परिवार को राइस कार्ड भी मिला है। वाईएसआर आरोग्यश्री कार्ड, शहरी गरीबी उन्मूलन योजना के तहत 10 हजार रुपए आरोपी नागेश्वर राव की पत्नी अरुणा कुमारी को मिले हैं। उसी तरह, वाईएसआर बीमा के तहत नागेश्वर राव को कार्ड भी मिला है।

सामान्य मृत्यु पर दो लाख, दुर्घटना में मारे जाने पर 5 लाख रुपए सरकार इस योजना के तहत भुगतान करती है। साथ ही आरोपी की बहन और टीडीपी जिला उपाध्यक्ष उमादेवी  भी वाईएसआर चेयूथा के तहत 18,500 रुपए का लाभ हासिल कर चुकी है। नागेश्वर राव के परिवार सरकार की विभिन्न योजनाओं से लाभान्वित होने की  बात से अंजान टीडीपी नेताओं की अब बोल्ती बंद हो गई है। टीडीपी नेताओं को सोचना चाहिए कि ऐसे परिवार को सरकार के प्रति गुस्सा क्यों रहेगा।

जांच तेज...
मंत्री पेर्नी नानी पर हमले के पीछे की साजिश का पर्दाफाश करने के लिए पुलिस ने जांच तेज कर दी है। डीएसपी रमेश रेड्डी के नेतृत्व में स्पेशल टीमें विभिन्न कोणों से जांच शुरू कर दी है। मंत्री पेर्नी के मुख्य साथी व मार्केटयार्ड के पूर्व चेयरमैन मोका भास्कर राव की पांच महीने पहले पूर्व टीडीपी मंत्री कोल्लु रवींद्र का गुर्गा चिंता चिन्नी ने अपने साथियों के साथ मिलाकर हत्या की थी।

इसे भी पढ़ें : 

आंध्र प्रदेश के मंत्री पेर्नी नानी पर हमले की कोशिश, पकड़ा गया शख्स

इस मामले में पूर्व मंत्री कोल्लु रवींद्र भी आरोपी होने से पुलिस ने उन्हें भी गिरफ्तार कर रिमांड पर भेज दिया था, लेकिन हाल में वह जमानत पर रिहा हुए। अब टीडीपी समर्थक बडुगु नागेश्वर राव के मंत्री पेर्नी नानी पर नुकीले हथियार से हमले के पीछे किसका हाथ है, इसका पता लगाने के लिए पुलिस के मैदान में उतर जाने से टीडीपी नेताओं में गिरफ्तारी का खौफ शुरू हो गया है।
 

Related Tweets
Load Comments
Hide Comments
More News
आंध्र-प्रदेश
मुख्य समाचार
.