आंध्र में हेल्थ वर्कर पुष्पा कुमारी को लगा पहला टीका, सीएम जगन को साथ देखकर खुश हुए लोग

16 Jan, 2021 12:01 IST|के. राजन्ना
टीकाकरण का शुभारंभ करते हुए सीएम जगन

मुख्यमंत्री वाईएस जगन मोहन रेड्डी ने वैक्सीनेशन अभियान का शुभारंभ किया

जीजीएच हेल्थ सेंटर में डॉक्टरों ने पहला टीका हेल्थ वर्कर पुष्पा कुमारी को दिया

अमरावती : आंध्र प्रदेश (Andhra Pradesh) में वैक्सीनेशन (Vaccination) अभियान शुरू हुआ है। विजयवाड़ा (Vijayawada) के जीजीएच हेल्थ सेंटर में डॉक्टरों ने पहला टीका हेल्थ वर्कर पुष्पा कुमारी को दिया है। इसके बाद हेल्थ वर्कर नागज्योति को वैक्सीन (Vaccine) दिया गया।

मुख्यमंत्री वाईएस जगन मोहन रेड्डी ने शनिवार को वैक्सीनेशन अभियान का शुभारंभ किया। इसके बाद वैक्सीनेशन प्रक्रिया का जायजा लिया। मुख्यमंत्री को अपने बीच देखकर सभी लोग खुश हो गये। विजयवाड़ा के गन्नवरम वैक्सीन स्टोर से सभी जिलों को वैक्सीन वितरित की गई।

शनिवार को सुबह स्वास्थ्य विभाग (फ्रंटलाइन वर्कर्स) में काम करने वाले सभी लोगों को संबंधित केंद्रों में टीके लगाए जाएंगे। प्रत्येक केंद्र में हर दिन 100 लोगों के हिसाब से कुल 33,200 लोगों को टीका लगाया जाएगा।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने टीकाकरण का उद्घाटन किया

इससे पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) ने शनिवार (Saturday) सुबह कोविड -19 (Covid-19) टीकाकरण (Vaccination) कार्यक्रम का उद्घाटन किया। कहा सारी दुनिया की नजर आज भारत के टीकाकरण कार्यक्रम पर टिकी है जिसका सबको बेसब्री से इंतजार था। इसकी सबसे बड़ी विशषता ये है कि यह दुनिया की बड़ी वैक्सीन प्रक्रिया है। प्रधानमंत्री मोदी ने टीका वितरण शुरू किया

इसे भी पढ़ें: 

कोविड-19 : तेलंगाना में हुआ टीकाकरण अभियान का आगाज, केटीआर ने लिया अस्पताल का जायजा

इस अवसर पर पीएम मोदी ने देश को संबोधित किया। उन्होंने कहा कि भारत घरेलू वैक्सीन के माध्यम से अपनी शक्ति दुनिया में फैला रहा है। उन्होंने कहा कि सरकार ने कोरोना वायरस महामारी के प्रसार को नियंत्रित करने के उद्देश्य से देश भर में टीकों का वितरण शुरू किया है।

उन्होंने कहा कि  वैक्सीन के लिए वैज्ञानिकों ने कड़ी मेहनत की है। उनके प्रयासों के परिणामस्वरूप, दो घरेलू टीके विकसित किए गए हैं। उन्होंने कहा कि जल्द ही कुछ और टीके उपलब्ध होंगे। मोदी ने कहा कि डॉक्टर, स्वास्थ्य कार्यकर्ता और स्वच्छता कार्यकर्ता इस टीके के पहले हकदार थे क्योंकि इस महामारी से वे ही सबसे आगे होकर जूझ रहे थे, इसीलिए पहला टीका उन्हें दिया जा रहा है। 

यह टीका बहुत कम समय में विकसित किया गया है। उन्होंने  यह स्पष्ट किया कि कोविड के खिलाफ लड़ाई में पीछे हटने की कोई बात ही नहीं है। कहा कि वैक्सीन की दो खुराक जरूर लें। 

 इस अवसर पर मोदी ने तेलुगु के प्रसिद्ध कवि गुरजाडा अप्पाराव (Gurjada Apparao) की कविता की पंक्तियां 'देशमंटे मट्टी कादोय, देशमंटे मनुशुलोय'  जिसका मतलब है देश का मतलब सिर्फ मिट्टी नहीं है बल्कि देश है वहां के लोगों से। इसके बाद उन्होंने कहा,' वट्टी माटलु कट्टीपेट्टोय, गट्टिमेलु तलपेट्टवोय' जिसका अर्थ है देश के भले के लिए सिर्फ बड़ी-बड़ी बातें ही मत करो, बल्कि देश के लोगों के भले के लिए कुछ काम करो।' 

इस तरह उन्होंने साफ किया कि भारत ने जहां कोरोना को झेला है वहीं भारतीय वैज्ञानिकों ने वैक्सीन बनाकर देश ही नहीं दुनिया का भी भला कर दिया, और सबकी नजरें आज भारत के टीकाकरण पर लगी है। 

इससे पहले आंध्र प्रदेश के स्वास्थ्य आयुक्त काटमनेनी भास्कर ने बताया कि वैक्सीनेशन के लिए सभी तैयारियां पूरी कर ली गई हैं। उन्होंने बताया कि राज्यभर में कुल 332 वैक्सीनेशन सेंटर बनाये गये हैं और हर सेंटर में छह कर्मचारियों की नियुक्ति की गई है। लगभग दो हजार कर्मचारियों को इस कार्यक्रम में भागीदार बनाया गया है।

3.83 लाख चिकित्सा व स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारियों को वैक्सीन

पहले चरण में 3.83 लाख चिकित्सा व स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारियों को वैक्सीन दी जाएगी। राज्य में कार्यरत केंद्र सरकार के चिकित्सा कर्मचारियों सहित मंगलगिरी एम्स के चिकित्सा कर्मचारियों तथा विशाखापट्टणम स्थित नौसेना के चिकित्सा कर्मचारियों को वैक्सीन के टीके लगाए जाएंगे।

4.77 लाख कोविशील्ड और 20 हजार कोवैक्सीन टीके

काटमनेनी ने बताया कि राज्य को अब तक कुल 4.77 लाख कोविशील्ड और 20 हजार कोवैक्सीन टीके पहुंच चुके हैं। पुलिस बंदोबस्त के बीच 332 केंद्रों में बने कोल्ड चेन प्वाइंट तक वैक्सीन पहुंचाई गई है।

वैक्सीन के लिए लगभग 11 महीने का समय

वैक्सीन के लिए लगभग 11 महीने का समय लगा। इन दिनों में इंसान की जीवनशैली ही बदल गई। प्यार-मोहब्बत और रिश्तेनाते सब कुछ दूर होते गये। वित्तीय संकट मंडराने लगा। इंसान का स्वास्थ्य पूरी तरह से प्रभावित हो गया। सभी क्षेत्रों की अपूरणीय क्षति हुई। इस तरह अनेक प्रकार की व्यथा-गाथा, दुख-दर्द का कारण बनी कोविड-19 को मिटाने का समय आ गया है। आंध्र प्रदेश और तेलंगाना के साथ पूरे देश में कोरोना टीकाकरण शुरू हुआ है।

Load Comments
Hide Comments
More News
आंध्र-प्रदेश
मुख्य समाचार
.