पूर्व सांसद JC दिवाकर रेड्डी पर 100 करोड़ का जुर्माना, ये है पूरा मामला

1 Dec, 2020 13:05 IST|संजय कुमार बिरादर
जेसी दिवाकर रेड्डी (फाइल फोटो)

रसोइये और ड्राइवर्स के नाम पर त्रिशूल सीमेंट्स से ली अनुमति

जेसी दिवाकर रेड्डी की कंपनियों में घपले

अनंतपुर : आंध्र प्रदेश के माइनिंग अधिकारियों ने टीडीपी के पूर्व सांसद जेसी दिवाकर रेड्डी को करारा झटका देते हुए उनपर भारी जुर्माना लगाया है। जेसी दिवाकर रेड्डी पर त्रिशूल सीमेंट फैक्ट्री में बड़े घपले करने का आरोप लगाते हुए पूर्व सांसद से 100 करोड़ का जुर्माना वसूलने का निर्णय लिया है।  उन्होंने100 करोड़ का जुर्माना नहीं देने की स्थिति में आर एंड आर कानून के तहत उनकी संपत्ति जब्त करने की चेतावनी दी है।

अधिकारियों की जांच में पता चला कि जिले के याडी मंडल के कोना उप्पलपाडु में अवैध खनन के जरिए 14 लाख मैट्रिक टन लाइम स्टोन (चूना पत्थर) की धोखाधड़ी हुई है। अधिकारियों ने जेसी दिवाकर रेड्डी पर अवैध खनन के जरिए कीमती लाइम स्टोन की खुदई करने का आरोप लगाया है। 

रसोइये और ड्राइवर्स के नाम पर त्रिशूल सीमेंट्स से ली अनुमति

यही नहीं, दिवाकर रेड्डी ने अपने घर में काम करने वाले रसोइये और ड्राइवर्स के नाम पर त्रिशूल सीमेंट्स की अनुमति हासिल की। यही नहीं, अनुमतियां मिलने के बाद नौकरों से अपने परिवार के सदस्यों को हिस्सेदारी बांटने की प्रक्रिया पूरी की है।

गौरतलब है कि टीडीपी के शासनकाल में नियमों के विरुद्ध बड़े पैमाने पर भ्रष्टाचार और धोखाधड़ी को अंजाम देने वाले जेसी दिवाकर रेड्डी के घपले लगातार उजागर हो रहे हैं। अवैध माइनिंग के साथ जेसी ट्रैवेल्स के नियमों के उल्लंघन पर भी अधिकारियों ने कार्रवाई की है।

जेसी दिवाकर रेड्डी की कंपनियों में घपले

दूसरी तरफ, अधिकारियों के मुताबिक अनंतपुर जिले के पेद्दापुर मंडल के मुच्चुकोटा जंगल में दिवाकर रेड्डी के परिजनों द्वारा संचालित सुमन, भ्रमरांबा माइनिंग कंपनियों में गड़बड़ी हुई होने की पुष्टी हुई है। जेसी दिवाकर रेड्डी के परिजनों से जुड़े दो डोलामाइट माइनिंग क्वारियों में नियमों के विरुद्ध काम चलाने के कारण अधिकारियों ने उन्हें कारण बताओ नोटिस जारी किया है।

इसे भी पढ़ें : 

विधानसभा में आंध्र प्रदेश पंचायत राज विधेयक हुआ पारित, विपक्ष ने किया था शोरशराबा

Related Tweets
Load Comments
Hide Comments
More News
आंध्र-प्रदेश
मुख्य समाचार
.